मेरा एक दिन

पहली पंक्ति के कार्यकर्ताओं और पहले उत्तरदाताओं के रोज़मर्रा के जीवन की एक झलक—उनकी भूमिकाएँ, जिम्मेदारियाँ, चिंताएँ, आशाएँ और इच्छाएँ।

April 12, 2023
एक आदिवासी पत्रकार जो अनकही कहानियां कहने के लिए न्यूज़रूम छोड़ यूट्यूब पर आ गई
गुजरात की महिला पत्रकार यूट्यूब रिपोर्टिंग का इस्तेमाल, अनुसूचित जनजाति समुदायों को जागरुक करने और उनसे जुड़ी खबरें दुनिया तक पहुंचाने के लिए कर रही हैं।
सेजल राठवा | 8 मिनट लंबा लेख
March 1, 2023
एक अकेली मां जो अपने गांव में कामकाजी महिलाओं के लिए नई राह बना रही है
यवतमाल के एक जमीनी कार्यकर्ता के जीवन का एक दिन जो महिलाओं को आत्मनिर्भर बनने और अपने समुदाय को जलवायु परिवर्तन से लड़ने के लिए तैयार करने की कोशिशों में लगी है।
प्रीति बेले | 6 मिनट लंबा लेख
February 15, 2023
गढ़चिरौली की एक युवा-आदिवासी सरपंच जो न नक्सलियों से डरती है, न पुलिस से
एक युवा-आदिवासी महिला सरपंच के जीवन का एक दिन जो अपने समुदाय को कागजी कार्रवाई करने से लेकर आपात परिस्थितियों में मदद पहुंचाने तक का काम करती है।
December 21, 2022
एक खिलाड़ी जो लैंगिक भेदभाव के ख़िलाफ़ अपनी लड़ाई फुटबॉल के मैदान पर लड़ती है
मुंबई की 19 वर्षीय फुटबॉल कोच, नेत्रावती अपने समुदाय में लैंगिक मानदंडों पर जागरूकता फैलाने के लिए खेल का इस्तेमाल करती है और लड़कियों को खेलने के लिए प्रोत्साहित करती है।
नेत्रावती | 6 मिनट लंबा लेख
November 16, 2022
“जो आपके रास्ते में है वही आपका रास्ता है”
गोरखपुर के एक गैर-बाइनरी कार्यकर्ता के जीवन का दिन जो छोटे बच्चों को लिंग संवेदनशीलता के बारे में सिखाता है और शहर में पर्यावरण जागरूकता और शिक्षा पर काम करता है।
नेविश | 7 मिनट लंबा लेख
November 9, 2022
लेह का एक इन्वायरमेंटलिस्ट अपने गांव के लोगों को कचरा प्रबंधन के तरीक़े सिखाता है
अर्थशास्त्र में बीए करने वाले इन्वायरमेंटलिस्ट के जीवन का एक दिन जो अपने गांव में कचरा प्रबंधन और इकोटूरिज़्म के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए यूट्यूब, इंस्टाग्रैम और एनिमेटेड फ़िल्मों का इस्तेमाल करता है।
स्टैनज़िन डोथोन | 7 मिनट लंबा लेख
November 9, 2022
घरेलू हिंसा के ख़िलाफ़ लड़ रही एक आदिवासी महिला के जीवन का दिन
खुद घरेलू हिंसा की पीड़िता, ग्रामीण राजस्थान की एक आदिवासी महिला हिंसा का सामना करने वाली अन्य महिलाओं को न्याय और हक़ दिलाने में उनकी मदद कर रही है।
कोकिला देवी | 6 मिनट लंबा लेख
October 26, 2022
जहां चाह वहां राह
वाराणसी के एक छात्र रिलेशनशीप मैनेजर के जीवन का दिन जो ख़ासकर महामारी के दिनों में युवाओं को रोज़गार के लिए कौशल विकास में प्रशिक्षण देती हैं।
सोनाली सिंह | 6 मिनट लंबा लेख
July 20, 2022
“युवाओं की आवाज़ सुनी जानी चाहिए”
जमशेदपुर के एक स्वयंसेवी संस्था के संस्थापक के बारे में पढ़िये जो ट्रांसजेंडर, क्वीर और हाशिए पर जी रहे युवाओं को सशक्त बनाना चाहते हैं।
सौविक साहा | 5 मिनट लंबा लेख
June 29, 2022
स्थाई उत्पाद एवं आजीविका निर्माण 
एक स्वयं सहायता समूह सदस्य और लीफ़ क्रशिंग मशीन ऑपरेटर बताती है कि कैसे उसकी पहली औपचारिक नौकरी से वह आत्मनिर्भर हुई और उसने अपने परिवार की आर्थिक मदद की।
रीना सेठी | 7 मिनट लंबा लेख
और पढ़ें