कैपेसिटी बिल्डिंग

नेतृत्व और प्रतिभा, संचार, फंड की व्यवस्था और तकनीक पर सर्वोत्तम अभ्यास (बेस्ट प्रैक्टिस), सीख और कार्यात्मक सलाह।

जून 14, 2022
भारत में व्यक्तिगत दान देने वालों तक पहुँचना
आँकड़ों के अनुसार आम लोग अब पहले से अधिक दान देते हैं। स्वयंसेवी संस्थाएँ ऐसे कई कदम उठा सकती हैं जिससे परोपकार के इस क्षेत्र से अधिकतम लाभ हासिल किया जा सके।
साहिल केजरीवाल | 10 मिनट लंबा लेख
जून 8, 2022
स्वयंसेवी संस्थाओं को क्यों लगता है कि नया FCRA उनके मौलिक अधिकारों का हनन करता है
अप्रैल 2022 में आए FCRA (एफसीआरए) से जुड़े सुप्रीम कोर्ट के फ़ैसले के बारे में जानिए और समझिए कि यह स्वयंसेवी संस्थाओं को कैसे प्रभावित करता है।
संजय अग्रवाल | 9 मिनट लंबा लेख
मई 25, 2022
एक अच्छा वेबिनार आयोजित करने के लिए पाँच ज़रूरी बातें
कई तरह की वर्चुअल मीटिंग के बीच आप अपने वर्चुअल मीटिंग को कैसे सबसे अलग बना सकते हैं।
दीक्षा सिंह | 8 मिनट लंबा लेख
मई 6, 2022
कौशल निर्माण: उपस्थिति से आगे की भागीदारी
अपने कार्यक्रम में युवाओं की सार्थक भागीदारी सुनिश्चित करने के पाँच तरीके।
अदा ग्रेवाल, यशी जैन | 8 मिनट लंबा लेख
अप्रैल 27, 2022
हर एक सर्वे से बाधाओं को तोड़ना
कर्नाटक में काम करने वाली एक एन्यूमरेटर (गणनाकार) के जीवन का एक दिन जो कामकाजी महिला होने की चुनौतियों और डाटा संग्रह में अच्छे संचार के महत्व के बारे में बताती हैं।
शैला महलमानी | 4 मिनट लंबा लेख
अप्रैल 21, 2022
हमें फील्ड कार्यकर्ताओं के कौशल विकास को प्राथमिकता देने की जरूरत क्यों है
फील्ड में काम करने वाले हमारे कार्यकर्ताओं के कौशल और डिजिटल साक्षरता को बेहतर बनाना उनके लिए, संगठन के लिए और व्यापक स्तर पर सामाजिक क्षेत्र के लिए उपयोगी है।
मार्च 31, 2022
रिमोट डाटा कलेक्शन के लिए फ़ोन सर्वेक्षण: कैसे सही परिणाम पाएँ
आपके फ़ोन सर्वेक्षण की कुशलता और प्रभावशीलता को सुनिश्चित करने के लिए छह उपाय।
मार्च 24, 2022
सफल प्रस्ताव लेखन के तरीके
स्वयंसेवी संस्थाओं के लिए फंडरेजिंग पर एक आजमाया और परखा हुआ गाइड।
मार्च 9, 2022
लोगों को टैक्स में राहत दिलवाने वाली क्राउडफंडिंग पर एक टिप्पणी
यदि आप क्राउडफंडिंग प्लैटफ़ार्म के माध्यम से धन जुटाने की योजना बना रहे हैं तो टैक्स में छूट, एफ़सीआरए नियमों सहित कई अन्य जानकारियाँ आवश्यक है।
धवल उडानी | 6 मिनट लंबा लेख
मार्च 9, 2022
विकलांगता के अनुकूल कार्यस्थल का निर्माण: समावेशिता क्यों मायने रखती है
एक समावेशी नेतृत्वकर्ता ‘हम लोग बनाम वे लोग’ के कथन को केंद्र में रखकर काम नहीं करता है। उन्हें कार्यस्थल में अपने और उन लोगों के बीच मौजूद समानताओं पर ध्यान केन्द्रित करना चाहिए जिनसे उनका संवाद स्थापित होता है।
शांति राघवन | 8 मिनट लंबा लेख
और पढ़ें